पर्यायवाची शब्द - हिंदी व्याकरण

पर्यायवाची शब्द 

अंकुश- नियंत्रण, पाबंदी, रोक, दबाव।
अंग- अंश, अवयव, हिस्सा, भाग। 
अंजाम- नतीजा, परिणाम, फल।
अंत- समाप्ति, अवसान, इति, इतिश्री, समापन।
अंतर- भिन्नता, असमानता, भेद, फर्क।
अंतर्धान- गायब, लुप्त, ओझल, अदृश्य।
अंतरिक्ष- खगोल, नभमंडल, गगनमंडल, आकाशमंडल।
अंदर- भीतर, आंतरिक, अंदरूनी, अभ्यंतर।
अंदाज- अंदाजा, अटकल, कयास, अनुमान।
अंधकार- तम, तिमिर, तमिस्र, अँधेरा, तमस, अंधियारा।
अंधा- सूरदास, आँधरा, नेत्रहीन, दृष्टिहीन।
अंबर- आकाश, आसमान, गगन, फलक, नभ। 
अंबु- जल, पानी, नीर, क्षीर, सलिल, वारि। 
अंबुज- कमल, पंकज, नीरज, वारिज, जलज, सरोज, पदम। 
अंबुद- मेघ, बादल, घन, घनश्याम, अंबुधर, घटा।
अंबुनिधि- समुंदर, सागर, सिंधु, जलधि, उदधि, जलेश।
अंशु- रश्मि, किरन, किरण, मयूख, मरीचि। 
अंशुमान- सूरज, सूर्य, रवि, दिनकर, दिवाकर, प्रभाकर, भास्कर।
अकड़बाज- ऐंठू, गर्वीला, घमंडी, अकड़ूखाँ, अहंकारी। 
अकिंचन- गरीब, निर्धन, दीनहीन, दरिद्र। 
अकृतज्ञ- अहसान- फ़रामोश, बेवफा, नमकहराम। 
अक्ल- प्रज्ञा, मेधा, मति, बुद्धि, विवेक।  
अखिलेश्वर- ईश्वर, परमात्मा, परमेश्वर, भगवान, खुदा। 
अगम- दुष्कर, कठिन, दुःसाध्य, अगम्य। 
अच्छा- बढ़िया, बेहतर, भला, चोखा, उत्तम। 
अजनबी- अनजान, अपरिचित, नावाकिफ। 
अजीब- अदभुत, अनोखा, विचित्र, विलक्षण। 
अटल- अविचल, अडिग, स्थिर, अचल। 
अग्नि- आग, ज्वाला, दहन, धनंजय, वैश्वानर, रोहिताश्व, वायुसखा, विभावसु, हुताशन, धूमकेतु, अनल, पावक, वहनि, कृशानु, वह्नि, शिखी।
अत्याचारी- जालिम, आततायी, नृशंस, बर्बर। 
अतिथि- मेहमान, अभ्यागत, आगन्तुक, पाहूना।
अतीत- भूतकाल, विगत, गत, भूत। 
अदालत- कचहरी, न्यायालय, दंडालय। 
अनादर- अपमान, अवज्ञा, अवहेलना, अवमानना, परिभव, तिरस्कार।
अध्ययन- पठन-पाठन, पढ़ना, पढ़ाई, पठन। 
अधीन- मातहत, आश्रित, पराश्रित, परवश, परतंत्र। 
अधीर- आतुर, धैर्यहीन, व्यग्र, बेकरार, उतावला। 
अन्न- अनाज, गल्ला, नाज, दाना। 
अनपढ़- निरक्षर, अशिक्षित, अपढ़। 
अनमोल- अमूल्य, बहुमूल्य, बेशकीमती। 
अनाज- अन्न, गल्ला, नाज, खाद्यान्न। 
अनाड़ी- अकुशल, अनभिज्ञ, अपटु। 
अनाथ- तीम, लावारिस, बेसहारा, अनाश्रित। 
अनिवार्य- अत्यावश्यक, अपरिहार्य, अवश्यंभावी, परमावश्यक। 
अनुज- छोटा भाई, अनुभ्राता, अवरज, कनिष्ठ। 
अनुपम- अपूर्व, अतुल, अनोखा, अनूठा, अद्वितीय, अदभुत, अनन्य।
अनुभवी- तजुर्बेकार, जानकार, अनुभवप्राप्त। 
अनुमति- इजाजत, सहमति, स्वीकृति, अनुमोदन। 
अनुरोध- विनय, विनती, आग्रह, प्रार्थना। 
अनूठा- अदभुत, अनोखा, विलक्षण, अपूर्व। 
अपराधी- गुनहगार, कसूरवार, मुलजिम। 
अपवित्र- अशुद्ध, नापाक, अस्वच्छ, दूषित। 
अफवाह- गप्प, किंवदंती, जनश्रुति, जनप्रवाद। 
अभद्र- असभ्य, अविनीत, अकुलीन, अशिष्ट। 
अभिनंदन- स्वागत, सत्कार, आवभगत, अभिवादन। 
अभिमान- अस्मिता, अहं, अहंकार, अहंभाव, अहम्मन्यता, आत्मश्लाघा, गर्व, घमंड, दर्प, दंभ, मद।
अमन- शांति, सुकून, सुख-चैन, अमन-चैन। 
अमर- चिरंजीवी, अनश्वर, अजर-अमर। 
अमृत- सुधा, सोम, पीयूष, अमिय, जीवनोदक।
अमीर- धनी, मालदार, रईस, दौलतमंद, धनवान। 
अर्चना- आराधना, पूजा, पूजन, अर्चन। 
अर्थ- धन्, द्रव्य, मुद्रा, दौलत, वित्त, पैसा।
अरण्य- जंगल, वन, कानन, अटवी, कान्तार, विपिन। 
अलंकार- आभूषण, भूषण, विभूषण, गहना, जेवर।
अलि- भौंरा, मधुकर, भ्रमर, भृंग, मिलिंद, मधुप, अलिंद। 
अश्व- घोड़ा, हय, तुरंग, बाजी।
असत्य- झूठ, मिथ्या, मृषा, असत। 
असभ्य- गँवार, असंस्कृत, उजड्ड। 
असुर-यातुधान, निशिचर, रजनीचर, दनुज, दैत्य, तमचर, राक्षस, निशाचर, दानव, रात्रिचर।
अहंकार- दंभ, गर्व, अभिमान, दर्प, मद, घमंड, मान।
अहि- साँप, नाग, फणी, फणधर, सर्प।

आँख- नेत्र, दृग, नयन, लोचन. चक्षु।
आकाश- व्योम, शून्य, गगन, अम्बर, आसमान, नभ, अभ्र, अंबर।
आग- अग्नि, अनल, पावक, वह्नि, हुतासन, कृशानु, वैश्वानर।

इच्छा- आकांक्षा, चाह, अभिलाषा, कामना।
इंद्र- सुरेश, देवेंद्र, देवराज, पुरंदर।

ईश्वर- प्रभु, परमेश्वर, भगवान, परमात्मा।

कमल- जलज, पंकज, सरोज, राजीव, अरविन्द, नीरज, पयज।

गंगा- सुरसरि, त्रिपथगा, देवनदी, जाह्नवी, भागीरथी।
गरमी- ग्रीष्म, ताप, निदाघ, ऊष्मा।
गृह- घर, निकेतन, भवन, आलय।

घर- गृह, सदन, आवास, आलय, गेह, निवास, निलय, मंदिर।

चन्द्रमा- चन्द्र, हिमांशु, शशि, राकेश, रजनीश, मयंक, विधु, सुधाकर, कलानिधि, निशापति, शशांक ।
चंद्र- चाँद, चंद्रमा, विधु, शशि, राकेश।

जंगल- वन, कानन, बीहड़, विटप, विपिन।
जल- वारि, पानी, नीर, सलिल, तोय।

दोस्त- बन्धु, मित्र, साथी, यार, सखा, हितैषी, अंतरंग, साखी, जीवन-साथी, मीत, सहायक।

नदी- सरिता, तटिनी, तरंगिणी, निर्झरिणी।

पत्नी- भार्या, दारा, अर्धांगिनी, वामा।
पत्थर- पाषाण, प्रस्तर, पाहन ।
पर्वत- शैल, नग, भूधर, पहाड़।
पवन- वायु, समीर, हवा, अनिल।
पानी- जल, वारि, नीर, तोय, सलिल, अंबु, सर।
पुत्र- बेटा, सुत, तनय, आत्मज, जनज।
पुत्री- बेटी, सुता, तनया, आत्मजा।
पृथ्वी- धरा, मही, धरती, वसुधा, भूमि, वसुंधरा।

बिजली- चपला, चंचला, दामिनी, सौदामनी।

मेघ- बादल, जलधर, पयोद, पयोधर, घन।

रजनी- रात्रि, निशा, यामिनी, विभावरी।
राजा- नृप, नृपति, भूपति, नरपति।

शिक्षक- गुरु, अध्यापक, आचार्य, उपाध्याय।


स्त्री- ललना, नारी, कामिनी, रमणी, महिला।
सर्प- सांप, अहि, भुजंग, विषधर।
साँप- सर्प, नाग, विषधर, व्याल, भुजंग, उरग, अहि पन्नग।
सागर- समुद्र, उदधि, जलधि, वारिधि
सिंह- शेर, वनराज, शार्दूल, मृगराज।
सूर्य- रवि, दिनकर, सूरज, भास्कर।

हवा- पवन, वायु, समीर, अनिल, वात, मरुत, पवमान।
हाथी- कुंजर, गज, द्विप, करी, हस्ती।

Related Posts
Disqus Comments
© Copyright 2017 HSSC JOBS - All Rights Reserved - Created By BLAGIOKE Diberdayakan oleh Blogger