HSSC JOBS

Latest Govt. Jobs and Admission updates are available here.

Breaking

28 Nov 2015

हिंदी व्याकरण - संधि

प्रश्न- संधि किसे कहते हैं?
उत्तर- निकटतम ध्वनियों के मध्य होने वाले मेल को संधि कहा जाता है|
प्रश्न- संधि के भेद बताएं|
उत्तर- संधि के तीन भेद होते हैं-
१. स्वर संधि|
२. व्यंजन संधि|
३. विसर्ग संधि|
प्रश्न- स्वर संधि किसे कहते हैं?
उत्तर- जब दो स्वरों का मेल होने पर किसी एक स्वर या दोनों स्वरों में परिवर्तन हो जाता है तो उसे स्वर संधि कहते हैं|
प्रश्न- स्वर संधि के कितने भेद हैं?
उत्तर- स्वर संधि के पांच भेद होते हैं- १. दीर्घ संधि २. गुण संधि ३. वृद्धि संधि ४. यण संधि ५. अयादि संधि|
प्रश्न- व्यंजन संधि से क्या आशय है?
उत्तर- व्यंजन के बाद किसी स्वर के आने से व्यंजन में होने वाला परिवर्तन व्यंजन संधि कहलाता है|
प्रश्न- विसर्ग संधि किसे कहते हैं?
उत्तर- विसर्ग के बाद किसी स्वर या व्यंजन के आने से विसर्ग में होने वाले परिवर्तन को विसर्ग संधि कहा जाता है|
प्रश्न- संधी विच्छेद किसे कहते हैं?
उत्तर- संधि के नियमानुसार मिले हुए वर्णों को जब अलग-अलग करके संधि पूर्व की स्थिति में लिखा जाता है, तो इस प्रक्रिया को संधि-विच्छेद कहा जाता है|

संधि के उदहारण-

पर+उपकार= परोपकार 
इति+आदि \= इत्यादि 
परम+अर्थ = परमार्थ 
गण+ईश = गणेश 
वर्ग+आकर= वर्गाकार 
देव+इंद्र = देवेन्द्र 
सदा+एव= सदैव 
भो+इष्य= भविष्य 
वाक्+ईश= वागीश 
यश:+दा= यशोदा 

संधि-विच्छेद के उदाहरण

परमेश्वर = परम +ईश्वर 
हरीश= हरि+ईश 
पुस्तकालय= पुस्तक+आलय 
देवर्षि = देव+ऋषि 
दिगम्बर= दिक्+अम्बर 
मनोयोग= मन:+योग 
अत्याचार= अति+आचार 
नरेश= नर+ईश 
भवन= भो+अन 
पनघट= पानी+घाट